पर्यटन केवल उद्योग ही नहीं है,यह इतिहास को भी जीवित रखता हैधरोहर से परिचित कराता हैभारत जब तक इतिहास को जीता था भारत था, 'इंडिया' बन, इतिहास भूलने व बिगाड़ने की पतन की राह चलने लगा है परिणाम यूनान मिस्त्र रोम से भी घातक होगा कुछ लोग इतिहास पड़ते, पढ़ाते हैं कुछ बिगाडते हैंहम वो(भारत माता के लाल)हैं, जो अनुकरणीय इतिहास घडते/ रचते हैतिलक.(निस्संकोच ब्लॉग पर टिप्पणी/अनुसरण/निशुल्क सदस्यता व yugdarpan पर इमेल/चैट करें,संपर्कसूत्र-तिलक संपादक युगदर्पण 09911111611, 09999777358Rendered Image

बिकाऊ मीडिया -व हमारा भविष्य

: : : क्या आप मानते हैं कि अपराध का महिमामंडन करते अश्लील, नकारात्मक 40 पृष्ठ के रद्दी समाचार; जिन्हे शीर्षक देख रद्दी में डाला जाता है। हमारी सोच, पठनीयता, चरित्र, चिंतन सहित भविष्य को नकारात्मकता देते हैं। फिर उसे केवल इसलिए लिया जाये, कि 40 पृष्ठ की रद्दी से क्रय मूल्य निकल आयेगा ? कभी इसका विचार किया है कि यह सब इस देश या हमारा अपना भविष्य रद्दी करता है? इसका एक ही विकल्प -सार्थक, सटीक, सुघड़, सुस्पष्ट व सकारात्मक राष्ट्रवादी मीडिया, YDMS, आइयें, इस के लिये संकल्प लें: शर्मनिरपेक्ष मैकालेवादी बिकाऊ मीडिया द्वारा समाज को भटकने से रोकें; जागते रहो, जगाते रहो।।: : नकारात्मक मीडिया के सकारात्मक विकल्प का सार्थक संकल्प - (विविध विषयों के 28 ब्लाग, 5 चेनल व अन्य सूत्र) की एक वैश्विक पहचान है। आप चाहें तो आप भी बन सकते हैं, इसके समर्थक, योगदानकर्ता, प्रचारक,Be a member -Supporter, contributor, promotional Team, युगदर्पण मीडिया समूह संपादक - तिलक.धन्यवाद YDMS. 9911111611: :

Thursday, December 10, 2015

धार्मिक, पर्यटन एवं धरोहर स्थलों” पर राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान 15 दिसंबर तक जारी रहेगा

धार्मिक, पर्यटन एवं धरोहर स्थलों” पर राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान 15 दिसंबर तक जारी रहेगा 
Image result for धार्मिक पर्यटन
स्वच्छ भारत मिशन में सक्रिय भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए 25 सितम्बर, 2015 से 31 अक्टूबर, 2016 तक एक राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान मनाया जा रहा है। इसी के एक अंश के रूप में “धार्मिक स्थानों, पर्यटन एवं धरोहर स्थलों” पर एक थीम आधारित अभियान 1 से 15 दिसंबर, 2015 तक शुरू किया गया है।
पर्यटन मंत्रालय ने सभी राज्य सरकारों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासकों को धार्मिक स्थानों एवं धरोहर स्थलों के भीतर इस अभियान का संचालन करने, स्वच्छता के महत्व पर धार्मिक स्थानों एवं धरोहर स्थलों में फ्लेक्स बोर्ड मैसेज स्थापित करने, राष्ट्रीय धरोहर स्थलों के लिए नए प्रवेश टिकट छापने, जिसके पृष्ठ भाग पर स्वच्छता संदेश अंकित हों, विद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों के छात्रों के बीच स्वच्छता अभियान का आरम्भ करने के लिए गैर सरकारी संगठनों एवं विद्यालयों से संपर्क करने के लिए पत्र लिखा है।
विभिन्न धार्मिक संगठनों के प्रमुखों से उनकी दैनिक की गतिविधियों में स्वच्छता एवं सफाई बनाए रखने के लिए, भारत के नागरिकों से अपील करने के लिए संपर्क किया गया है।
स्वच्छ भारत अभियान से संबंधित कार्यों की निगरानी करने के लिए एक समर्पित परियोजना निगरानी का गठन किया गया है।
भारत जब तक इतिहास को, जीता था भारत था | 'इंडिया' बन, 
इतिहास भूलने व बिगाड़ने की; पतन की राह चलने लगा | 
आओ, सब मिलकर फिरसे इसे स्वच्छ बनायें; - तिलक