पर्यटन केवल उद्योग ही नहीं है,यह इतिहास को भी जीवित रखता हैधरोहर से परिचित कराता हैभारत जब तक इतिहास को जीता था भारत था, 'इंडिया' बन, इतिहास भूलने व बिगाड़ने की पतन की राह चलने लगा है परिणाम यूनान मिस्त्र रोम से भी घातक होगा कुछ लोग इतिहास पड़ते, पढ़ाते हैं कुछ बिगाडते हैंहम वो(भारत माता के लाल)हैं, जो अनुकरणीय इतिहास घडते/ रचते हैतिलक.(निस्संकोच ब्लॉग पर टिप्पणी/अनुसरण/निशुल्क सदस्यता व yugdarpan पर इमेल/चैट करें,संपर्कसूत्र-तिलक संपादक युगदर्पण 09911111611, 09999777358Rendered Image

बिकाऊ मीडिया -व हमारा भविष्य

: : : क्या आप मानते हैं कि अपराध का महिमामंडन करते अश्लील, नकारात्मक 40 पृष्ठ के रद्दी समाचार; जिन्हे शीर्षक देख रद्दी में डाला जाता है। हमारी सोच, पठनीयता, चरित्र, चिंतन सहित भविष्य को नकारात्मकता देते हैं। फिर उसे केवल इसलिए लिया जाये, कि 40 पृष्ठ की रद्दी से क्रय मूल्य निकल आयेगा ? कभी इसका विचार किया है कि यह सब इस देश या हमारा अपना भविष्य रद्दी करता है? इसका एक ही विकल्प -सार्थक, सटीक, सुघड़, सुस्पष्ट व सकारात्मक राष्ट्रवादी मीडिया, YDMS, आइयें, इस के लिये संकल्प लें: शर्मनिरपेक्ष मैकालेवादी बिकाऊ मीडिया द्वारा समाज को भटकने से रोकें; जागते रहो, जगाते रहो।।: : नकारात्मक मीडिया के सकारात्मक विकल्प का सार्थक संकल्प - (विविध विषयों के 28 ब्लाग, 5 चेनल व अन्य सूत्र) की एक वैश्विक पहचान है। आप चाहें तो आप भी बन सकते हैं, इसके समर्थक, योगदानकर्ता, प्रचारक,Be a member -Supporter, contributor, promotional Team, युगदर्पण मीडिया समूह संपादक - तिलक.धन्यवाद YDMS. 9911111611: :

Wednesday, June 1, 2016

पर्यटन मंत्रालय की अतुल्‍य भारत कार्ययोजना

पर्यटन मंत्रालय की अतुल्‍य भारत कार्ययोजना 
(शयन और जलपान/ गृह निवास योजना प्रतिपादित) 
न दि, 01 जून (तिलक)। पर्यटन मंत्रालय ने "अतुल्य भारत शयन और जलपान/ गृह निवास योजना" के लिए एक कार्य योजना तैयार की है। कार्य योजना की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं: - 
1. गृह निवास/शयन और जलपान समय की मांग है, वर्तमान और भविष्य की आवश्यकताओं के आधार पर इस योजना के दिशा निर्देशों पर पुन: विचार करने और इन्‍हें अद्यतन करने का निर्णय किया गया था। 
2. जिस राज्‍य में पहले से ही प्रचलित और जारी है उनमें और जिस राज्य में यह नहीं है वहां गृह निवास योजना के विस्तार को सुनिश्चित करने के लिए। 
3. करों को युक्तिसंगत बनाने, प्रक्रियाओं आदि के सरलीकरण के माध्यम से व्‍यवसाय को सरल बनाने की दिशा में पग। 
4. अधिक बी एंड बी प्रतिष्ठानों को सूचीबद्ध करने के लिए एक आक्रामक विपणन रणनीति का शुभारंभ। 
5. इस योजना को बढ़ावा देने में ऑनलाइन यात्रा एजेंटों को शामिल करना और इसे तीव्र गति पर लाना। 
6. इस योजना के विभिन्न पक्षों का अध्ययन करने और एक समयबद्ध ढंग से अनुशंसाओं को प्रस्तुत करने के लिए समूहों का गठन किया गया। 
पर्यटन मंत्रालय ने 30 मई 2016 को अतुल्य भारत शयन और जलपान/ गृह निवास योजना पर एक कार्यशाला का आयोजन किया। इस कार्यशाला की अध्यक्षता पर्यटन मंत्रालय के सचिव विनोद जुत्शी ने की और इसमें विभिन्न राज्य सरकारों के अधिकारियों, आतिथ्य एवं यात्रा और व्‍यापार उद्योग प्रतिनिधियों, ऑनलाइन यात्रा एजेंटों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों के साथ पर्यटन मंत्रालय के अधिकारियों ने भाग लिया। 
इस कार्यशाला का आयोजन विशेष रूप से बजट श्रेणी के आवासीय क्षेत्रों में कक्षों की कमी को पूरा करने के प्रमुख उद्देश्‍य के साथ किया गया। होटलों के निर्माण के लिए एक लंबी अवधि होती है, इसलिए यह अनुभव किया गया अभिलषित अतिरिक्त होटल क्षमता को पर्यटन मंत्रालय मंत्रालय की अतुल्य भारत शयन और जलपान योजना को प्रोत्साहन देने के साथ-साथ राज्य सरकारों और ऑनलाइन यात्रा एजेंटों द्वारा चलायी जा रही समान योजनाओं से व्यापक सीमा तक पूरा किया जा सकता है। 
भारत जब तक इतिहास को, जीता था भारत था |
'इंडिया' बन, इतिहास भूलने व बिगाड़ने की; पतन की राह चलने लगा |
आओ, मिलकर इसे बनायें; - तिलक